pradhanmantri mudra yojna

हेलो दोस्तों मैं आप के लिए आज प्रधान मंत्री मुद्रा योजना के तहत कैसे लोन प्राप्त करें इसके क्या लाभ है और उसका क्या उदेश्य है इसके बारें में पूरी जानकारी लेकर आई हूँ. प्रधानमंत्री जी ने देश की आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाने के लिए कई तरह की योजनाएं बनाई है. जिनमें से एक है प्रधान मंत्री मुद्रा योजना इस योजना से छोटे छोटे व्यवसायों को बढ़ावा मिलेगा और बेरोजगारी ख़तम होगी. प्रधानमंत्री ने अपने वादे के मुताबिक ८ अप्रैल २०१५ को २० हजार करोड़ रूपए के कार्पस फण्ड और 3 हजार करोड़ के क्रेडिट ग्रेजुटी कोपेर्स के साथ माइक्रो यूनिट्स डव्लोप्मेंट एंड रीफाइनस एजेंसी लिमिटेड बैंक का उद्घाटन किया. ग्रामीण और दूरस्थ हिस्सों में रहने वाले भारत के लोग ओपचारिक बैंकिंग प्रणाली के लाभों से दूर है. लोगों को छोटे से व्यापार को शुरु करने के लिए बिमा, कर्ज और अन्य वितीय उपकरण का सहारा लेतें है. कर्ज के लिए वे साहुकारो पर निर्भर रहतें है और कर्ज का बहुत जादा ब्याज चुकाना पड़ता है. फिर परिस्थिति ये हो जाती है की उनकी आने वाली पीढ़ी भी इसी कर्ज के तले दबी रहती है. और साहुकार उनका जीना मुश्किल कर देते है.

यह भी पढ़ें:- एलोवेरा जूस का बिज़नस करें और कमाएँ 50 हजार से 1 लाख महिना

प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के मुख्य उदेश्य इस प्रकार से हैं.

  1. मुद्रा बैंक बाटी गई पूंजी की निगरानी कर्ज लेने और देने की प्रक्रिया में मदद के लिए उचित तकनीक मुहया करेगा.
  2. छोटे व्यवसायों को दिये जाने वाले कर्ज के लिए ग्रेजुटी देने के लिए क्रेडिट स्कीम बनाएगा.
  3. जो लोग कर्ज लेंगे उनको दिशा निर्देश उपलभ्द करेगा जिस से व्यापर में नाकामी से बचा जा सके या फिर समय रहते ही कोई उचित कदम उठाया जा सके.
  4. छोटे और सूक्ष्म व्यवसायों को प्रभावी ढंग से छोटे कर्ज मुहया करने की प्रभावी प्रणाली विकसित करने के लिए प्रधान मंत्री मुद्रा योजना के तहत उपयुक्त ढ़ांचा तैयार करेगा.

कुल मिलाकर कर इस योजना का मुख्या उद्देश्य छोटे छोटे उद्योगों को लोन देना है. जिस से पुरे देश में छोटे छोटे उद्योगों की शुरूआत की जा सके और रोजगार के अधिक से अधिक अवसर प्राप्त हों. प्रधान मंत्री मुद्रा योजना नए नए व्यापारों और व्यापारियों को जन्म देगा.

प्रधान मंत्री मुद्रा योजना में तीन हिस्सों की जरूरतों को पूरा करने के लिए तीन कर्ज उपकरणों की शुरुआत की गई है.

  1. शिशु- इस के दायरे में 50 हजार तक के कर्ज आतें है.
  2. किशोर- 50 हजार से ५ लाख तक के कर्ज इस दायरे में आते है.
  3. तरुण- ५ से 10 लाख तक के कर्ज इस दायरे में आते है.

यह भी पढ़ें:- CSC सेंटर (कॉमन सर्विस सेंटर) खोल कर कमाए ५० से 60 हजार रूपए महीना

प्रधान मंत्री मुद्रा योजना उन लोगों के लिए है जो अपना बिज़नस खुद या पार्टनर शिप में शुरु करना चाहतें है. इस योजना के लिए चाहे वह शहरी हो या ग्रामीण इलाके से कोई भी आवेदन कर सकता है. प्रधान मंत्री मुद्रा योजना से लोन लेने के लिए व्यक्ति भारत का नागरिक होना चाहिए और जो भी बिज़नस वो करना चाहता है उसका उसके पास पूरा प्लान होना चाहिए उसके बाद ही बैंक उसको लोन देता है. प्रधान मंत्री मुद्रा योजना में लोन प्राप्त करने के लिए आप २७ सार्वजनिक बैंकों की किसी भी शाखा में जाकर इस मुद्रा लोन के बारें में पता कर सकतें है और फिर उसी बैंक से लोन के लिए अप्लाई भी कर सकतें है. सार्वजनिक बैंकों के अलावा कुछ प्राइवेट बैंक भी जैसे ICICI बैंक, माइक्रो फाइनेंस इंस्टिट्यूट भी लोन ऑफर करतें है. लोन अप्लाई करने के लिए जरुरी डॉक्यूमेंट भी होने चाहिए जैसे स्वयं सत्यापित प्रमाण पत्र व दो फोटो, जाती प्रमाण पत्र, एड्रेस प्रूफ जो बिज़नस करना चाहतें है उस से सम्बंधित दस्तावेज, लाइसेंस व सर्टिफिकेट और उस बिज़नस के बारें में पूरी जानकारी जिस को आप करना चाहतें है. इस तरह से आप लोन के लिए अप्लाई कर सकतें है.

अधिक जानकारी के लिए मेरा यह विडियो देखें

तो दोस्तों यह थी प्रधान मंत्री मुद्रा योजना के तहत लोन प्राप्त करने की पूरी जानकारी, और अगर आप प्रधान मंत्री मुद्रा योजना के बारें में और भी जानना चाहतें हैं तो लॉगइन करें http://www.pmindia.gov.in/en/news-updates/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *