डिजिटल पेमेट सेंटर

नोट बंदी के बाद प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी जी ने ये ऐलान कर दिया है की, वो भारतीय इकोनोमी को  कैशलेस बनाना चाहतें है. यानि की प्रधान मंत्री जी चाहतें है की देश में ज्यादातर लेन – देन डिजिटल तरीके से हो, ऐसा करने से देश को भ्रस्टाचार मुक्त किया जाएगा और इसी वजह से देश में डिजिटल पेमेंट सोल्यूशन सेंटर में बिज़नस के कई नए अवसर प्राप्त हो रहें है. जिसका आप को काफी फ़ायदा मिल सकता है.

यह भी पढ़ें:-CSC सेंटर (कॉमन सर्विस सेंटर) खोल कर कमाए ५० से 60 हजार रूपए महीना          

यह बिज़नस मोबाइल से लेकर CSC सेंटर, पेमेंट सेंटर तक हो सकतें है. जिन से बिज़नस कर आप अच्छी कमाई कर सकतें है. नेशन पेमेंट कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया भारत बिल पेमेंट सिस्टम शुरु करने जा रहा है. आप भी पेमेंट सेंटर खोल सकतें है.

डिजिटल पेमेंट सेंटर का मकशद

नेशन पेमेंट कारपोरेशन ऑफ़ इंडिया का मकशद यह है की लोगों का टेलीफोन बिल, हाउस टैक्स, वाटर टैक्स, बिजली का बिल, मोबाइल बिल सहित दुसरे यूटिलिटी बिल या किसी भी तरह का पेमेंट करना हो तो उसके लिए डिजिटल पेमेंट सेंटर मौजूद हों. पुरे देश भर में ये सेंटर खोले जाने है. सरकार की योजना इस सिस्टम के जरिये, अधिकतर पेमेंट डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड और मोबाइल के जरिये हो, ऐसे में आपके लिए डिजिटल पेमेंट सेंटर खोलना अच्छा विकल्प है. यानि की जितना जादा ट्राजेक्सशन उतनी ज्यादा  कमाई.

Paytm ऑफलाइन मर्चेंड्स

कंपनी डिजिटल वॉलेट में बढ़ते हुए  ट्राजेक्सशन को देखते हुए ऑफलाइन मर्चेंड्स नेटवर्क बढ़ने की तैयारी में हैं. और आपके पास ऑफलाइन PayTm मर्चेंड्स बन्ने का अच्छा मौका है. कंपनी अपने नेटवर्क को बढाने के लिए 10 हजार से २० लाख तक एजेंट्स भी बनाने वाली है. आप चाहें तो कंपनी के साथ जुड़कर भी पैसे कमा सकतें है. आपको हर ट्राजेक्सशन पर पैसे मिलते है. इसी तरह ऑफलाइन मर्चेंड्स बनकर भी आप अच्छी कमाई कर सकतें है. PayTm की तरह ही और दूसरी कंपनियां भी अपनी वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन कराती है. आप ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कर कंपनी के साथ जुड़ सकतें है.

जैसे PayTm का सेलर बन्ने के लिए आपको उसकी वेबसाइट पर जा कर साइनअप करना होगा उसके बाद आपको अपना नाम एड्रेस और मोबाइल नंबर वेरीफाई करवाना होगा. फिर अपने बिज़नस और प्रोडक्ट की जानकारी देनी होती है.

यह भी पढ़ें:- एस्सार आयल पेट्रोल पंप खोलने का सुनहरा मौका

इसके बाद जरुरी डॉक्यूमेंट जैसे बैंक डिटेल्स, KVIC, टिन्न नंबर आदि की जानकारी देनी होती है. इसके बाद आप कंपनी के ऑफलाइन मर्चेंड्स बन जातें है. हर ट्राजेक्सशन पर दुकानदार को 1.७% कमिशन मिलता है. पेमेंट सेंटर खोलने के लिए आपके पास 100 से १५० वर्ग फुट स्पेस होना चाहिए. एक कंप्यूटर, प्रिंटर, डिजिटल वेब कैमरा, आदि की जरुरत पड़ती है.

अधिक जानकारी के लिए मेरा यह विडियो देखें

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *