रजनीगंधा की खेती कैसे करें ?

रजनीगंधा की खेती एक फायदा देने वाली खेती है.  रजनीगंधा का पौधा एक सुगंधित पौधा है. जिसको कई तरह से प्रयोग में लाया जा सकता है और वैसे भी फूलों की मांग कभी कम नहीं होती है. कोई भी धार्मिक कार्य हो या सामाजिक हर वक्त फूलों की मांग बनी रहती है जिससे इसकी डिमांड कभी कम नहीं होती है.

आप कोई भी फसल या पौधा उगाएं उसमें भूमि व मिट्टी का एक विशेष महत्वपूर्ण भाग होता है. रजनीगंधा के पौधे को उगाने के लिए किस तरह की मिट्टी का चुनाव करें. यह पौधा बल्ब या कलम में लगाया जाता है और किसी साथ मिट्टी में आसानी से उगाया जा सकता है.

यह भी पढ़ें:-मोती की खेती कर 1 से २ लाख हर महीने कमाए

रजनीगंधा की खेती कैसे करें

रजनीगंधा की खेती के लिए तैयारी एवं जल का निकास पर विशेष ध्यान देना चाहिए. क्यारियां बनाते समय ध्यान रखें कि यारियां छायादार जगह पर न बनाएं सूर्य का प्रकाश भरपूर मिलना चाहिए खेत की मिट्टी को मुलायम व बराबर कर लें.  मिट्टी से खरपतवार हटाने खेत की विधिवत तैयारी होनी चाहिए.रजनीगंधा की सही किस्म का चुनाव कि आपको अच्छा उत्पादन दे सकता है. वैसे इसकी सारी ही वेरायटी बेहतरीन है. रजनीगंधा की कुछ वेराइटी इस प्रकार हैं सिंगल डबल अर्थ डबल रजनीगंधा एक गणितीय फसल है. इसकी रोपाई आप मार्च से मई तक कर सकते हैं.

अगर आप पूरे साल भर फूल लेना चाहते हैं तो 15 – 15 दिन के अंतराल में इसकी रोपाई करते रहे रुपए के लिए हमेशा स्वस्थ बताइए कंद का ही उपयोग करें. रोपाई के लिए खेत में पर्याप्त मात्रा में नमी होनी चाहिए.अगर आप एक हेक्टेयर में इसको लगाना चाहते हैं तो आप को 12 साल से 15 किलोग्राम कंधों की आवश्यकता पड़ सकती है. रजनीगंधा की खेती के लिए रासायनिक उर्वरकों के साथ-साथ गोबर की खाद हरी खाद केंचुआ खाद आदि का भी प्रयोग करते हैं.  जिसको आपकी फसल की उर्वरकता पर अच्छा असर पड़ता है.  समय-समय पर इसकी सिंचाई भी करनी चाहिए लेकिन ज्यादा पानी ना डालें.

रजनीगंधा की खेती का रखरखाव

गर्मियों में पांच-पांच दिन और सर्दियों में 10 से 12 दिन के अंतराल में इसकी सिंचाई करनी चाहिए मौसम फसल वृद्धि आदि को ध्यान में रखकर सिंचाई करें कीटों से भी फसल का बचाव करना चाहिए. अगर समय पर इसका बचाव न किया गया तो फसल को नुकसान हो सकता है.वैसे रजनीगंधा के पौधों पर बीमारियां व कीट कम ही लगते हैं लेकिन इनसे निपटने के लिए नीम का काढ़ा गौमूत्र के साथ मिलाकर फसल पर छिड़काव कर सकते हैं.

रजनीगंधा के पौधों पर 3 से 5 महीने में फूल आ जाते हैं. रजनीगंधा उगाने में न सिर्फ खर्च कम आएगा बल्कि इससे आपकी अच्छी कमाई भी होगी.रजनीगंधा की एक फूल की कीमत 20 से ₹30 है.  इसी तरह अगर आप 2 से 5 लाख फूल भी उगाते हैं तो आप पूरे साल में 25 से 30 लाख तक की कमाई आसानी से कर सकते हैं.  रजनीगंधा की मांग विदेशों में भी बहुत है.  इसकी मांग और खपत पूरे साल बनी रहती है.  इसकी खेती के लिए सरकार की तरफ से सब्सिडी भी मिलती है.

यह भी पढ़ें:- केसर की खेती कब और कैसे करें ?

अधिक जानकारी के लिए मेरा यह विडियो देखे

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *