विंड टरवाइन छत पर लगाए,

आप अपनी छत्त पर सोलर पॉवर प्लांट ही नहीं बल्कि विंड टरवाइन  भी लगा सकतें है. बिजली की दरें हर साल बढती ही जा रही हैं और ये हर किसी की परेशानी है. तो इससे बचने का सबसे आसान तरीका यही है की  आप अपनी छत्त पर सोलर पॉवर प्लांट ही नहीं बल्किविंड टरवाइन भी लगायें , ताकि हवा से भी आपको बिजली मिल सके विंड टरबाइन लगाने से आपको बिजली का बिल भी परेशान नहीं करेगा और सरकार की तरफ से आप को हर यूनिट का भी पैसा मिलेगा.

मिनी विंड टरबाइन लगाने पर आने वाला खर्च

इसके लिए केंद्र सरकार की ओर से सब्सिडी के साथ साथ लोन भी मिलता है. सोलर पॉवर प्लांट की तरह भी विंड टरवाइन  पर होने वाला खर्च भी कम होता जा रहा है और सरकार भी विंड एनर्जी प्लांट को प्रमोट करने के लिए समय समय पर नई नई योजनाएँ ला रही है.

यह भी पढ़ें:-सुकम के साथ सोलर बिजनेस शुरू करने का मौका

पहले सोलर प्लांट की तरह ही विंड टरबाइन लगाने में भी बहुत खर्च आ जाता था लेकिन इसकी डिमांड बढ़ने के कारण विंड टरवाइन की कीमतें कम होती जा रही है. एक्सपर्ट बतातें है की अगर आप छत्त पर मिनी विंड टरवाइन लगाना चाहतें है तो आज कल ७० से ९० हजार रूपए प्रति किलो वाट की दर से लागत आएगी.

विंड एनर्जी प्रोडक्शन पर सब्सिडी

एक परिवार की डिमांड लगभग ५ किलो वाट होती है और ५ किलो वाट छमता वाले एक प्लांट पर 4 लाख रूपए से ले कर 6 लाख रूपए का खर्च आ सकता है. विंड टरवाइन प्लांट लगाने के लिए केंद्र सरकार विंड एनर्जी प्रोडक्शन पर सब्सिडी देती है. यह सब्सिडी जनरेशन बेस्ट इंसेंटिव के तौर पर दी जाती है. MNRE के मुताबिक विंड एनर्जी लगाने पर 50 पैसे प्रति किलो वाट दिया जाता है. केंद्र सरकार रिन्यूएबल एनर्जी को बढ़ावा देने के लिए सस्ती ब्याज दर पर लोन देती है. यह लोन इंडियन रिन्यूएबल एनर्जी डेवलपमेंट एजेंसी द्वारा दिया जाता है. आप भी अगर लोन के लिए अप्लाई करना चाहतें है तो स्क्रीन पर दिये गए लिंक पर लॉग इन कर सकतें है. http://www.ireda.gov.in/forms/

विंड टरबाइन प्लांट के साथ सोलर प्लांट लगाने के फायदे

विंड टरबाइन प्लांट के साथ आप सोलर प्लांट भी लगा सकतें है. एक्सपर्ट बतातें है की भारत में विंड टरबाइन के साथ साथ सोलर प्लांट लगाने पर काफी फ़ायदा मिलता है, क्योंकी सोलर प्लांट के साथ साथ विंड टरबाइन लगाने के लिए अलग से स्पेस की जरुरत नहीं पड़ती है. साथ ही आप को इन्वेर्टर के लिए अलग से खर्च नहीं करना पड़ता है. इसका फ़ायदा यह होता है की आप दिन भर सोलर प्लांट से बिजली ले सकतें है तो शाम को विंड टरबाइन से बिजली पैदा कर सकतें है.

यह भी पढ़ें:-कैसे शुरू करें RO वाटर प्लांट बिजनेस ?

अधिक जानकारी के लिए मेरा यह विडियो देखे

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *