एलोवेरा की खेती कैसे करें

एलोवेरा की खेती करना बहुत ही मुनाफे वाली खेती है . एलोवेरा के पौधे प्राक्रतिक रूप से अनुपजाऊ भूमि में भी उगाए जा सकतें है. एलोवेरा को किसी भी भूमि पर उगाया जा सकता है. परन्तु बलुवी दोमट मुट्टी में इसका अधिक उत्पादन होता है. अगर आप के पास अपनी जमीन खाली है तो आप यह बिज़नस आसानी से कर सकतें है.

एलोवेरा के लिए खेत की तैयारी कैसे करें

आप अपनी जमीन की खेतों को पटा लगाकर समतल बना सकतें है, इसके उपरांत ऊची उठी हुई क्यारियों में 50 – 50 सेंटी मीटर की दुरी पर पौधों को रोपित कर सकतें है. पौधे की रोपाई के लिए मुख्य पौधे के बगल से निकलने वाले छोटे छोटे पौधे जिन में 4-५ पत्तियां हो उनका प्रयोग करें. लाइन से लाइन की दुरु 50 सेंटी मीटर एवं पौधे से पौधे की दुरी भी 50 सेंटी मीटर रखने पर एक हेक्टर में १०००० पौधों की आवश्यकता पड़ सकती है. आप इसकी खेती को कभी भी कर सकतें है, पर फरवरी माह से अक्टूबर माह तक इसकी रोपाई के लिए उत्तम समय माना जाता है.

यह भी पढ़ें:-तुलसी की खेती कैसे करें ?

 खेत में खाद कितनी डालें

10 – १२ टन प्रति हेक्टर गोबर की खाद पौधों के अच्छे विकास के लिए बहुत जरुरी है. १२० ग्राम यूरिया, १५० किलो ग्राम फास्फोरस, एवं ३३ किलो ग्राम पोटाश प्रति हेक्टर की दर से डालें. नाइट्रोजन को 3 बार एवं फास्फोरस और पोटाश को भूमि की तैयारी के समय ही डाल दें. नाइट्रोजन का पौधों पर छिडकाव करना अच्छा रहता है. इस प्रकार पुरे साल में एलोवेरा के पौधे को 3 से 4 बार सिचाई की आवश्यकता पड़ती है. पौधे को रोपाई के बाद खेत में पानी दें एलोवेरा की खेती में ड्रिप सिचाई अच्छी रहती है. सिचाई करने से इसकी पत्तियों में जेल का उत्पादन एवं गुणवत्ता दोनों पर अच्छा प्रभाव पड़ता है.

एलोवेरा के पौधे की देखभाल व कटाई

आपको समय समय पर खेत पर खर पतवारों को हटाना होगा वैसे तो एलोवेरा के पौधे को पानी की ज्यादा आवश्यकता नहीं होती है परन्तु इससे खेत में हलकी नमी बनी रहती है और दरारें नहीं पड़ती है. बरसात के मौसम में खेत से पानी को बाहर निकालने का भी  प्रबंध कर लें. अगर खेत में ज्यादा पानी होगा तो एलोवेरा की जड़ें सड़ जाएंगी. रोपाई के 10-१५ महीनो में पत्तियां पूर्ण रूप से तैयार व कटाई योग्य हो जाती है. कटाई करते समय ध्यान रखें की पौधे के ऊपरी एवं नई पत्तियों को ना काटें निचली एवं पुरानी पत्तियों को पहले काटें. इसके ४५ दिन बाद पुनः निचली पत्तियों को ही तोड़ें इस प्रकार आप इस प्रक्रिया को 3 से ५ वर्ष तक दोहरा सकतें है.

उसके बाद इस की सफाई करके चाहें तो खुद इसके प्रोडक्ट बनाए या फिर मार्केट में बेच दें. इसकी मार्केट में बहुत ज्यादा  डिमांड है. एलोवेरा का बिज़नेस शुरु करने से पहले आपको इसके पौधे व बीज भी खरीदने होंगे जिस की वेबसाइट का लिंक स्क्रीन पर दिया गया है. http://dir.indiamart.com/impoat/aloe.vera-plant.html

यह भी पढ़ें:-एलोवेरा जूस का बिज़नस करें और कमाएँ 50 हजार से 1 लाख महिना

अधिक जानकारी के लिए मेरा यह विडियो देखे

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *